Android Phone को हैंग होने से कैसे रोके | वायरस सुरक्षा टिप्स 2020

मोबाइल फोन को हैंग से कैसे रोके और वायरस से सुरक्षा कैसे करें ?

नमस्कार दोस्तों मैं हूं दुर्गेश नायक और आप देख रहे हैं मेरी वेबसाइट 'sikhoinAll' और मैं आज आपको बताने वाला हूं  की मोबाइल फोन को हैंग होने से कैसे रोके, और  हमारे एंड्रॉइड फोन की Google खुद वायरस से सुरक्षा कैसे करेगा।

Android को हैंग होने से कैसे रोके, एंड्रॉयड फोन से वायरस हटाए, मोबाइल फोन की सुरक्षा करें, मोबाइल डिवाइस को बार-बार स्कैन करें, एप्लीकेशन के खतरे को पहचाने, एंड्राइड की सुरक्षा करें, एंड्राइड से मेल्यवर हटाए

 तो दोस्तों हमारे साथ अक्षर क्या होता हैं कि जब हम नया android फोन लाते हैं, तो वह एंड्रॉइड फोन जल्दी हैंग होने लगता हैं। तीन से चार महीने में ही हैंग होने लगता हैं तो एंड्रॉइड फोन हैंग क्यों होते हैं? और इनके हैंग होने का क्या कारण हैं।

तो एंड्रॉइड फोन के हैंग होने के बहुत सारे कारण होते हैं तो यह कारण क्या है? और इनके बारे में जानने के लिए नीचे दिए गए इस लिंक पर क्लिक करें और पूरी जानकारी पाएं। 



तो ऊपर दिए गए इस लिंक पर जाकर आपने जान लिया होगा, कि android फोन के हैंग होने के पीछे कौन कौन से कारण हैं।

और अब हम जानते हैं कि google खुद हमारे फोन को वायरस से कैसे बचाता हैं, और वायरस से सुरक्षा कैसे करता हैं। तो इस पोस्ट को point-to-point लास्ट तक पढे़ और पढ़ने का आनंद लें

तो दोस्तों जब हम 'Google Play Store' से सॉफ्टवेयर एप्स डाउनलोड करते हैं तो उन एप्स के बारे में हमें पता नहीं होता हैं, कि इस ऐप्स में वायरस हैं। या फिर ऐसी कोई चीज हैं जिससे हमारा android phone हैंग हो सकता हैं, और हम इन एप्स से अनजान होते हैं। और इन एप्स को बिना जाने पहचाने हमारे एंड्राइड डिवाइस में डाउनलोड कर लेते हैं और फिर बाद में हमारा एंड्राइड फोन धीरे-धीरे हैंग होने लगता हैं। 

और फिर हम सोचते हैं कि शायद फोन मैं कुछ खराबी हैं और उस फोन को हम उस कंपनी के मोबाइल केयर पर डाल देते हैं, जिस कंपनी का फोन हमने खरीदा हैं।

और हां मैं यह भी मानता हूं कि सभी 'एंड्राइड फोन' ऐसे भी नहीं होते हैं जिनमें कोई खराबी नहीं हो 'लेकिन' हां कुछ एंड्रॉइड फोन ऐसे भी होते हैं, जिनमें शायद कंपनी की थोड़ी बहुत गलती के कारण फोन में टेक्निकल की कुछ खराबी आ जाती हैं। जिनके कारण हम जैसे कही यूजर्स को बड़ा नुकसान झेलना पड़ता हैं।

तो दोस्तों चलिए अब हम यह जानते हैं कि जब हम गूगल प्ले स्टोर से एप्स डाउनलोड करते हैं, और उस एप्स में वायरस होते हैं। 'या' फिर उनमें कुछ सिस्टम खराबी होती हैं तो उस खराबी के बारे में हमें पता कैसे चलेगा।

दोस्तों ऐसे एप्स की खराबी के बारे में हमें 2 तरीकों से पता चलता हैं।

1. एंड्राइड सिस्टम तो दोस्तों जब हम Google play store, 9Apps 'या फिर' कोई भी ऐसा सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन हैं जिससे हम अपने एंड्रॉइड फोन में एप्स डाउनलोड करते हैं, और अगर उस एप्स में कुछ सिस्टम खराबी आ जाती हैं। जो हमारे एंड्रॉइड फोन के सिस्टम से पूरी तरह से कनेक्ट नहीं हो पाती हैं 'या फिर' हमारे Android phone के सिस्टम को बार-बार हानि पहुंचाता है, तो हमारा एंड्रॉइड फोन हमें सूचना देता हैं। कि इस एप्स का सिस्टम कुछ ठीक नहींं लग रहा हैं 'या' फिर यह एप्स आपके एंड्राइड सिस्टम से कनेक्ट नहीं हो रहा हैं, 'इसीलिए' एंड्राॅइड सिस्टम ने इस एप्स को बंद कर दिया हैं। आप इस एप्स को अनइनस्टॉल कर ले 'या' इस एप्स को अपने डिवाइस से हटा ले 'क्योंकि' यह एप्स एंड्राइड सिस्टम को बार-बार हानि पहुंचा रहा हैं।

2. और दूसरे में हैं गूगल प्ले प्रोटेक्ट तो जब हम Google play store, 9Apps  'या फिर' कोई भी ऐसा सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन हैं,  जिससे हम अपने एंड्रॉइड फोन में एप्स डाउनलोड करते हैं। और उस एप्स को डाउनलोड करने के बाद उस एप्स को जब हम यूज करते हैं तो आपने देखा होगा के बहुत से ऐसे एप्स होते हैं, जिनके चलने की स्पीड  बहुत ही कम होती हैं। और वह एप्स चलते चलते बार-बार ऑटोमेटेकली रुक जाते हैं और वहां पर एक मैसेज आ जाता हैं, कि 'यह एप्स अभी जवाब नहीं दे रहा हैं' इस एप्स को आप अभी बंद कर ले 'या फिर' कुछ देर के लिए 'प्रतीक्षा करें' और जब हमें बार-बार ऐसे मैसेज मिलते रहते हैं। तो 'गूगल प्ले प्रोटेक्ट' हमें एक नोटिफिकेशन भेजता हैं कि इस एप्स में शायद कुछ वायरस हैं, 'या फिर' इसमें सिस्टम खराबी हैं। जिसके कारण यह एप्स आपके एंड्रॉइड फोन के सिस्टम से कनेक्ट नहीं हो पा रहा हैं आप इस एप्स को अनइनस्टॉल कर सकते हैं, इस एप्स को अपने डिवाइस से हटा सकते हैं।


तो दोस्तों एप्स की ऐसी ही खराबी के बारे में नोटिफिकेशन पाने के लिए हमें अपने एंड्रॉइड फोन में कुछ 'सेटिंग्स' करनी पड़ती हैं, 'या फिर' बहुत से एंड्रॉइड फोन ऐसे भी होते हैं। जिनमें पहले ही कंपनी की तरफ से ऑटोमेटेकली यह सेटिंग की हुई होती है तो वह सेटिंग हमें हमारे एंड्रॉइड फोन में देखने को नहीं मिलती हैं।

और जिन एंड्रॉइड फोन में एप्स की खराबी के बारे में नोटिफिकेशन भेजने वाली सेटिंग कंपनी की तरफ से पहले ही की हुई नहीं होती हैं तो वह सेटिंग हमें हमारे एंड्रॉइड फोन की सेटिंग में मिल जाती हैं, और उस सेटिंग्स को हम ऑन करके हमारे एंड्रॉइड फोन को वायरस से सुरक्षित कर सकते हैं।

तो चलिए अब हम शुरू करते हैं कि वह सेटिंग हमें कहां और कैसे मिलती हैं तो इस पोस्ट को लास्ट तक पढ़िएगा और पढ़ने का आनंद लीजिए।

Mobile Phone को हैंग से कैसे रोके? और Virus से सुरक्षा कैसे करें?

 (A) तो दोस्तों सबसे पहले हमें हमारे 'एंड्रॉइड डिवाइस' में सेटिंग आइकन पर क्लिक करना होगा, और 'सेटिंग आइकन' पर क्लिक करने के बाद आपके सामने पेज ओपन होगा। तो आपको उस पेज में नीचे से ऊपर की ओर स्लाइड करना हैं और वहां पर आपको Google का एक ऑप्शन दिखाई देगा, तो आपको उस 'Google'  के ऑप्शन पर क्लिक कर लेना हैं 
और फिर आपके सामने एक और पेज ओपन हो जाएगा।

(B)और इस पेज में आपको सबसे नीचे एक 'सुरक्षा' का ऑप्शन दिखाई देगा। और फिर आपको उस सुरक्षा के ऑप्शन पर क्लिक कर लेना हैं और 'सुरक्षा' पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक और ऐसा ही 'पेज' ओपन हो जाएगा।

(C) और उस पेज में आपको 'दो' ऑप्शन दिखाई देंगे, (मेरी डिवाइस ढूंढो) और (Google Play protect) तो इन दोनों में से आपको 'Google Play protect' को चुनना हैं तो आपको 'google play protect'  पर क्लिक कर लेना हैं, और क्लिक करने के बाद आपके सामने एक और पेज ओपन हो जाता हैं।

(D) तो आप नीचे इस मजेदार 'फोटो' में देख सकते हैं की 'Google Play protect' के ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद, जो पेज ओपन होता हैं, वह पेज कैसा दिखाई देता हैं।

Android को हैंग होने से कैसे रोके, एंड्रॉयड फोन से वायरस हटाए, मोबाइल फोन की सुरक्षा करें, मोबाइल डिवाइस को बार-बार स्कैन करें, एप्लीकेशन के खतरे को पहचाने, एंड्राइड की सुरक्षा करें, एंड्राइड से मेल्यवर हटाए

तो आप ऊपर दी गई इस फोटो में देख सकते हैं की यहां पर नीचे एक मैसेज लिखा हुआ हैं, की (Google Play protect लगातार आपके एप्लीकेशन और डिवाइस में नुकसान पहुंचाने वाले व्यवहार की जांच करता है) और फिर इसके नीचे लिखा हुआ हैं। की (सुरक्षा से जुड़ा कोई भी खतरा मिलने पर आपको बता दिया जाएगा) 

तो दोस्तों इसका मतलब हैं कि जब हम Google Play Store, 9Apps 'या फिर' कोई भी ऐसा सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन हैं, जिससे हम अपने एंड्रॉइड डिवाइस में एप्स डाउनलोड करते हैं। तो उससे जुड़ी समस्या के बारे में यह हमें कह रहा हैं कि अगर उस एप्स में कोई भी समस्या आती हैं, 'या फिर' उसके सिस्टम में कुछ खराबी होती हैं। 'या फिर' वह ऐप्स हमारी निजी जानकारी को किसी तीसरे पक्ष में शेयर सकता हैं, 'या फिर' उस एप्स मे वायरस हैं जो हमारे एंड्रॉइड फोन के सिस्टम को हानि पहुंचा सकता हैं। तो उस समस्या के बारे में गूगल प्ले प्रोटेक्ट हमें पहले ही सूचित कर देगा। 

और ऐसी समस्याओं के बारे में जानकारी पाने के लिए आपको इस पेज में ऊपर की ओर एक ⚙️ सेटिंग का आइकन दिखाई देगा, उस पर क्लिक कर ले और आपके सामने दो ऑप्शन खुल जाएंगे, तो इन दोनों ऑप्शन को आप यहां नीचे दी गई फोटो में देख सकते हैं। 

Android को हैंग होने से कैसे रोके, एंड्रॉयड फोन से वायरस हटाए, मोबाइल फोन की सुरक्षा करें, मोबाइल डिवाइस को बार-बार स्कैन करें, एप्लीकेशन के खतरे को पहचाने, एंड्राइड की सुरक्षा करें, एंड्राइड से मेल्यवर हटाए

तो अब हमें इन दोनों ऑप्शन को 'ऑन' कर लेना हैं और इन दोनों ऑप्शन को ऑन करने के बाद, आपके एंड्रॉइड फोन की सुरक्षा चालू हो जाएगी और फिर जब आपके एंड्रॉइड फोन के किसी ऐसे एप्स के बारे में पता चलेगा, जिसमें कुछ खराबी हैं। या उससे आपकी डिवाइस की सुरक्षा को खतरा है या उस ऐप में वायरस है तो यह 'Google Play protect' एप्लीकेशन तुरंत आपको सूचना भेज देगा।

नोट: कृपया ध्यान दें:– मैंने जो अभी इस पोस्ट में (Google Play protect) सेटिंग के बारे में आपको बताया हैं यह सेटिंग सभी एंड्राइड डिवाइस में मौजूद 'नहीं' रहती हैं, और हो सकता हैं। कि शायद आपके एंड्रॉइड डिवाइस में भी यह सेटिंग मौजूद 'न' हो या फिर यह सेटिंग आपके डिवाइस सेटिंग में कई और जगह मौजूद हो और 'हां' आपको यह सेटिंग 'VIVO Y71 1724' में मिल जरूर जाएगी, 'क्योंकि' मैंने 'VIVO Y71 1724' एंड्राइड फोन को यूज किया हैं। और उसमें इस सेटिंग को ऑन करने के बाद 'मैंने' अपने एंड्राइड फोन मैं कुछ अच्छा महसूस किया हैं। 'इसीलिए' सोचा कि इस जानकारी के बारे में मैं आपको भी बता दूं 'ताकि' आपको भी इस 'सेटिंग' के बारे में पता चले।

तो दोस्तों मुझे उम्मीद हैं कि आपको इस पोस्ट में पूरी तरह से समझ में आ गया होगा, कि मोबाइल फोन को हैंग होने से कैसे रोके और वायरस से सुरक्षा कैसे करें? और मुझे उम्मीद हैं। कि आपको मेरी यह पोस्ट बहुत पसंद आई होगी और अगर आपको मेरी यह पोस्ट पसंद आई हैं, तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों में शेयर करें ताकि आपके दोस्तों को भी पता चले और मुझे कमेंट करें कि आपको मेरी यह पोस्ट कैसी लगी तो दोस्तों आज के लिए बस इतना ही अब हम फिर मिलेंगे एक और नई पोस्ट के साथ तब तक के लिए बाय आपका दिन शुभ हो।

'शायद आपको यह भी पसंद आए':

Hello friend my name is durgesh nayak the great are blog sikhoinall

Comments

  1. Thank you so much for this article. You guys are great for providing all these learning tools for us to get better.
    you can try this website

    ReplyDelete
  2. मैं एक सोशल मीडिया मार्केटर हूं और ऑनलाइन कारोबार को बढ़ावा देता हूं जैसे -

    वेबसाइट और ब्लॉग (Bring traffic)
    यूट्यूब चैनल (लाइक, सब्सक्राइबर्स, व्यूज, कमेंट आदि)
    फेसबुक (पेज लाइक / पोस्ट लाइक, फॉलो आदि)
    ट्विटर ( लाइक, फॉलो, Retweet आदि)
    इंस्टाग्राम ( लाइक, फॉलो, आदि)
    Twitch ( लाइक, फॉलो आदि)

    अपने निवेश के बारे में चिंता करने की जरूरत नहीं है। हमारी सेवाएं वास्तविक हैं।आपको उचित मूल्य पर गुणवत्ता, स्थायी और जैविक प्रचार मिलेगा।

    यदि आपको इस में से किसी की आवश्यकता है तो मुझसे संपर्क करें।

    विजिट करें > http://bit.ly/2ZZA5NJ

    धन्यवाद ।

    ReplyDelete

Post a Comment

क्या आपने इस पोस्ट पर अपना 'Comment' किया है, यदि (नहीं) तो अभी करें।

आपके विचार सार्वजनिक है।

" धन्यवाद "



अब यहां पर खोजें

लोकप्रिय पोस्ट:

अनोखी सेटिंग एक हस्त मोबाइल स्क्रीन? Views 👁50.3k
Post Article लिखकर ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए? Views 👁39.2k
YouTube से पैसे कमाने के Best 3 तरीके? Views 👁35.9k
Mobile से Photo सुंदर बनाने के लिए 10 Best Apps? Views 👁29.8k
YouTube Channel के बारे में जानकारी? SEO Tips Views 👁24.4k
Automatic फोटो Background चेंज Online? Views 👁21.1k

YouTube Channel Subscribe Now »
Facebook Page Following »